बिकरु कांड में 50 हज़ार का इनामी शशिकांत गिरफ्तार , विकास दुबे के घर से AK-47 बरामद । शशिकांत के घर से राइफल भी मिली।

0
163

कागा न न्यूज
कानपुर। बिकरू कांड के बाद एनकाउंटर में मार गिराए गए 5 लाख के इनामी विकास दुबे के ममेरे भाई शशिकांत दुबे को अरेस्ट किया गया है। उसकी निशानदेही पर पुलिस से लूटी गई एके-47 व इंसास राइफल भी बरामद हुई है। शशिकांत पर 50 हजार का इनाम घोषित था।
यूपी के एडीजी लाॅ एंड आर्डर ने मंगलवार सुबह पुलिस लाइन में बताया कि 2/3 जुलाई को चौबेपुर के बिकरू गांव में विकास दुबे ने अपने साथियों की मदद से पुलिस टीम पर हमला किया था। उसने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। मामले की जांच के लिए सोमवार रात एसओजी, शिवराजपुर व रेल बाजार पुलिस दबिश दे रही थी। रात करीब ढाई बजे एक सूचना के आधार पर 50 हजार के इनामी शशिकांत को अरेस्ट किया गया। यह विकास दुबे का ममेरा भाई है।

पूछतांछ में शशिकांत ने बताया कि पुलिसकर्मियों से लूटे गए असलहें उसने अपने और विकास दुबे के घर में छिपा दिए थे। पुलिस टीम ने बिकरू स्थित विकास दुबे के घर से एक एके-47 और उसके 17 कारतूस तथा शशिकांत के घर से इंसास राइफल और उसके 20 कारतूस बरामद किए ।

एडीजी ने बताया कि इस मामले में 21 आरोपी नामजद किए गए थे जिनमें से ज्ञान यादव, दयाशंकर अग्निहोत्री और शशिकांत को अरेस्ट किया जा चुका है। मुख्य आरोपी विकास दुबे समेत 6 आरोपी एनकाउंटर में मारे जा चुके हैं। बाकी के 11 आरोपियों की अभी भी तलाश है।

पुलिस के गुडवर्क में छेद ही छेद

कानपुर। एसओजी और कानपुर पुलिस ने कुख्यात अपराधी विकास दुबे के ममेरे भाई शशिकांत दुबे को अरेस्ट कर उसकी निशानदेही पर पुलिस से लूटी गई एके-47 और इंसास राइफल बरामद करने का दावा किया है। हालांकि, पुलिस के इस गुडवर्क ने उसे ही कठघरे में खड़ा कर दिया है। 2/3 जुलाई की घटना के बाद शहर पुलिस ने बिकरू स्थित विकास दुबे का मकान ढहा दिया था। उस वक्त जमीन खोदकर तलाशी भी ली गई थी। अब सवाल यह है कि उस वक्त जब हथियार नहीं मिले तो अब जमींदोज हो चुके मकान के मलबे में से असलहे कहां से बरामद हो गए।

बरामदगी करने वाले अफसर यह भी नहीं बता सके कि शशिकांत ने असलहे कहां छिपाई थी। शशिकांत के मकान में सिर्फ दो कमरे हैं तो पुलिस पूर्व में तलाशी के दौरान इंसास उसके घर से क्यों नहीं बरामद कर सकी। शशिकांत के घर के सामने ही एसआईटी और जांच के लिए गठित आयोग के सदस्य व पुलिस के अधिकारी भी गए थे। उस वक्त हथियार क्यों नहीं मिले। अरेस्ट किया गया शशिकांत, विकास दुबे के कथित मामा प्रेम कुमार पांडे का बेटा है। प्रेम कुमार को शहर पुलिस ने वारदात के बाद ही एनकाउंटर में मार गिराया था। ऐसे कई सवाल हैं जो पुलिस के इस गुडवर्क की झूठी कहानी बयां करर उसकी निशानदेही पर पुलिस से लूटी गई एके-47 और इंसास राइफल बरामद करने का दावा किया है। हालांकि, पुलिस के इस गुडवर्क ने उसे ही कठघरे में खड़ा कर दिया है। 2/3 जुलाई की घटना के बाद शहर पुलिस ने बिकरू स्थित विकास दुबे का मकान ढहा दिया था। उस वक्त जमीन खोदकर तलाशी भी ली गई थी। अब सवाल यह है कि उस वक्त जब हथियार नहीं मिले तो अब जमींदोज हो चुके मकान के मलबे में से असलहे कहां से बरामद हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here